Samirsinh Dattopadhye

sedentary lifestyle

हरि ॐ, श्रीराम, अंबज्ञ, नाथसंविध्‌,  नाथसंविध्‌,  नाथसंविध्‌.  कष्ट के बिना फल नहीं, ओ.के? और बाकी सारी चीज़ों के लिए तो हमलोग कष्ट करते रहते हैं। We go on putting our all efforts in everything….whatever we desire for. जो हमे चाहिए, उसके लिए हम लोग बहुत प्रयास करते रहते हैं…. मन से, तन से, धन से; लेकिन ये सब चीज़ें जो देता है, उसके लिए हम कितने श्रम करते हैं? ये

sedentary lifestyle

॥ हरि ॐ ॥ श्रीराम ॥ अंबज्ञ॥ नाथसंविध्‌ नाथसंविध्‌ नाथसंविध्‌      जीवन में किसी को यह चाहिए, किसी को वह चाहिए, एक ही इन्सान के जीवन में, सुबह में यह चाहिए, तो दोपहर में दूसरा कुछ चाहिए, शाम को तीसरी चीज़ चाहिए, रात को चौथी चाहिए, सपने में पाँचवी चीज़। Right? चलते ही रहता है। उसमें कोई बुराई नहीं हैं, it happens. होता है। लेकिन अभी समझो, हम लोग कोई

Bhaktibhav Chaitanya

  From the Editor’s Desk January 2019   Hari Om Friend, The months of November and December were long-awaited by all the Shraddhavans as they brought with them the festivals of ‘Shree Aniruddha Pournima’ and ‘Shree Sacchidananda Utsav’, the peaks of joy for Shraddhavans. ‘Shree Sacchidananda Utsav’ is the epitome of “Bhakti-Bhav” for Shraddhavans, which brings unparalleled and pure joy – Chaitanya, as we fondly welcome Sadguru Shree Aniruddha’s Padukas

  स्वास्थ्य (निवारक, प्रोत्साहक, रोगनिवारक, पुनर्वास) ग्रामिण/नगरीय/सामुदायिक/आदिवासी विकास पर केन्द्रित भारत आज दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। परंतु तेज़ी से प्रगति करती अर्थव्यवस्था के बावजूद, कुछ समस्याएं देश के कई हिस्सों में अब तक पनप रही हैं और उन क्षेत्रों पर मंडरा रही हैं। गरीबी, एक ऐसी ही समस्या है, जो विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में समाज को असक्षम बना देती है और प्रगति में बड़ी

(के एम एच सी) ग्रामीण/ नागरी / समाज / आदिवासी ह्यांच्या आरोग्य आणि स्वच्छतेवर लक्ष केंद्रीत करून विकास (प्रतिबंधक, प्रोत्साहक, उपचारात्मक आणि पुनर्वसन) भारत सध्या जगातील अग्रेसर /(अग्रगणी ) अर्थव्यवस्थांपैकी एक आहे.  तथापि अर्थव्यवस्थेची भरभराट होत असली तरी, देशातील भागांमध्ये काही समस्या वारंवार प्रकट होऊन जोमाने वाढत राहतात. सार्वत्रिकरीत्या ग्रामीण भागांमध्ये, विशेषत: दारिद्र्य हे एक असे सामाजिक दैन्य आहे, जे समाजाला अपंग बनविते आणि त्याच्या विकासात अडथळा आणते. बहुतांश वेळा,

KOLHAPUR MEDICAL & HEALTHCARE CAMP {KMHC}

RURAL / URBAN / COMMUNITY / TRIBAL Development with focus on HEALTH (Preventive, Promotive, Curative and rehabilitative) and HYGIENE India is currently one of the leading economies of the world. However, despite the boom of its economy, certain problems continue to thrive and haunt parts of the country. Poverty, especially prevalent in rural areas, is one such social evil which handicaps society and hampers its progress. Most of the times,

अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प और मेक्सिको वॉल का मसला

 ‘मेक्सिको वॉल’ के मुद्दे से बिल्कुल वापसी नही करेंगे – राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प का इशारा वॉशिंगटन: ‘मेक्सिको सीमा की सुरक्षा के लिए ड्रोन्स या सेन्सर्स काफी नही है| सीमा से घुसपैठ कर रहे अवैध शरणार्थियों को रोकना है तो उसके लिए पोलाद या कांक्रिट की मजबूत दिवार ही जरूरी है और वही शरणार्थियों को रोक सकेगी| अमरिका सुरक्षित रखने के लिए मेक्सिको सीमा पर दिवार जरूरी है और इस मुद्दे

सद्गुरु श्री अनिरुद्ध बापु के अग्रलेख ऑनलाईन पढने का स्वर्णिम अवसर

हरि ॐ हम श्रद्धावानों को त्रि-नाथों से जोडने वाले ‘समर्थ-सेतु’ स्वयंभगवान श्री त्रिविक्रम के भक्तिभाव चैतन्य में रहना, यही हर एक श्रद्धावान के लिए राजमार्ग है, यह मार्गदर्शन हमें परमपूज्य सद्गुरु श्री अनिरुद्ध बापु दैनिक प्रत्यक्ष के अग्रलेखों से कर रहे हैं। हम सभी जानते हैं कि सद्गुरु श्रीअनिरुद्धजी विभिन्न मार्गों से अपने श्रद्धावान मित्रों के साथ संवाद करते हैं। हर गुरुवार को श्रीहरिगुरुग्राम में होने वाले पितृवचन (प्रवचन) के

यूरोपीय महाद्वीप से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियां

स्विट्जरलैंड में कुछ मस्जिदों का तुर्की और ‘आईएस’ से संबंध – स्विस पत्रकार का आरोप बर्न – स्विट्जरलैंड में तुर्की के सरकार से जुडे संगठनों द्वारा चलाई जा रही मस्जिदों में ‘आईएस’ यह आतंकी संगठन प्रशिक्षण दे रही है, यह चौकानेवाला दावा स्विस पत्रकार ने किया है| ‘कर्ट पेल्डा’ इस स्विस पत्रकार ने इराम में सजा सुनाई गई एक ‘आईएस’ के आतंकी का जिक्र करके यह आरोप किया| २४ वर्ष

Speech by Muniba Mazari - 'We all are Perfectly Imperfect'

Hari Om, Sadguru Shree Aniruddha has asked all his shraddhavan friends to watch a speech (video) by Muniba Mazari – ‘We all are Perfectly Imperfect’. The link of which is as under: Muniba Mazari speech with big subtitles – https://www.youtube.com/watch?v=fBnAMUkNM2k    || Hari Om || Shree Ram || Ambadnya || || Naathsamvidh ||

bhajan_announcement

 हरि ॐ, जैसा कि सद्गुरु श्री अनिरुद्धजी ने बताया था, गुरुवार दि. १० जनवरी २०१९ को श्रीहरिगुरुग्राम में, डॉ. पौरससिंह अनिरुद्धसिंह जोशी, सभी श्रद्धावानों को भजन करना सिखायेंगे, इसपर सभी श्रद्धावान गौर करें। । हरि ॐ । श्रीराम । अंबज्ञ । । नाथसंविध् ।  ———————————————————————-   हरि ॐ, सद्गुरु श्री अनिरुद्धांनी सांगितल्याप्रमाणे गुरुवार दि. १० जानेवारी २०१९ रोजी श्रीहरिगुरुग्राम येथे डॉ. पौरससिंह अनिरुद्धसिंह जोशी सर्व श्रद्धावानांना भजन करण्यास शिकवणार

What could dare touch you if Bapu was your saviour?

– Suresh Vasgade, Sangli Each one of us experiences various unpleasant incidents in our lives, and Bapu effortlessly pulls everyone, especially a Bapu Devotee out of such untoward events. I am sure each of us has experienced his divine interventions and his blessings aplenty. Even I experienced something similar through which I grew aware of Bapu’s support and experienced his grace. Sankatamadhe Jo Haath Dhari, Ashakyache Shakya Bapu Kari! (He

तुलसीपत्र-१५७७

हरि ॐ, परमपूज्य श्री सुचितदादा ने बतायेनुसार, आज दि. २३-१२-२०१८ को ‘दैनिक प्रत्यक्ष’ में प्रकाशित हुआ तुलसीपत्र-१५७७ यह अग्रलेख विशेष महत्त्वपूर्ण होने के कारण, सभी श्रद्धावानों की सुविधा के लिए PDF स्वरूप में सबको भेज रहा हूँ। ————————————————————————————- हरि ॐ, परमपूज्य श्री सुचितदादांनी सांगितल्याप्रमाणे, आज दि. २३-१२-२०१८ रोजी ‘दैनिक प्रत्यक्ष’ मध्ये प्रकाशित झालेला तुलसीपत्र-१५७७ हा अग्रलेख विशेष महत्त्वाचा असल्यामुळे, सर्व श्रद्धावानांच्या सोयीकरिता PDF स्वरूपात सगळ्यांना पाठवत आहे. ।। हरि ॐ

जाणीव (Consciousness)

सद्गुरू श्री अनिरुद्ध बापूंनी त्यांच्या २० जून २०१३ च्या मराठी  प्रवचनात ‘जाणीव (Consciousness)’ याबाबत सांगितले.   हा जो देव म्हणजे काय? परमेश्वर म्हणजे नक्की काय? तर साधी गोष्ट लक्षात ठेवायची की परमेश्वर माणसाला समजला कसा? हे बघायचं झालं, तर आपले वेद अतिशय सुस्पष्टपणे आपल्याला सांगतात, की देव माणसामध्ये कसा पसरला? म्हणजे काय? तर परमेश्वराची जाणीव, परमेश्वराची जाणीव माणसाला, कशी झाली? काय वाक्य लक्षात घ्या, परमेश्वराची जाणीव किंबहुना परमेश्वराच्या आहेपणची जाणीव, म्हणजे

'Yellow Vests' protests in France - A blow to globalism and its pawn, Macron

France considers imposing emergency to control ‘Yellow Vest’ protests against President Macron Paris – The agitators in France have sternly warned the French government in an aggressive tone saying that the demonstrations initiated against President Emmanuel Macron were the “beginning of a revolution”. Since the last two weeks, protests taking place in the French capital of Paris and its nearby regions have turned violent. As the aggression of the protestors