Samirsinh Dattopadhye

Pipasa 4

हरि ॐ, सर्व श्रद्धावानांना हे माहीत असेलच की ‘पिपासा’ अभंगमालिकेतील पुढील अभंगसंग्रह ‘पिपासा-४’ येत्या गुरुवारी म्हणजे दि. १४ फेब्रुवारी २०१९ रोजी प्रकाशित होणार आहे. ह्या संग्रहातील निवडक अभंग श्रीहरिगुरुग्राम येथे प्रत्यक्ष परमपूज्य सद्‍गुरु अनिरुद्धांच्या (बापूंच्या) उपस्थितीत स्टेजवरून वाद्यवृंदाच्या साथीने गायले जाणार आहेत. ह्या प्रकाशन सोहळ्यानंतर हा अभंगसंग्रह सर्व श्रद्धावानांकरिता उपलब्ध होईल, जो ‘अनिरुद्ध भजन म्युझीक’ ॲपच्या माध्यमातून श्रद्धावान खरेदी करू शकतात. लिंक – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.aniruddhabhajanmusic ‘पिपासा-४’ हा म्युझिक अल्बम आज रविवार

Krupasindhu Calendar app

Hari Om, We have been using the Krupasindhu Calendar app for over a month now. As was declared earlier, the Calendar is now also available in English. For being able to access the same, you will have to update the latest version from Play Store. Once the app is updated, you can select the language option (Marathi or English). Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.shreekrupasindhu.calendar Also, based on feedback from many shraddhavans, an auto-save

Bapu’s grace

–  Pratima Pathak, Beharanpur In the year 1999, we began following Bapu, and he has helped us through thick and thin of life ever since. I am confident that a devotee who is under the guidance and care of Bapu can overcome even the biggest hurdles in life. “Me Tula Kadhich Taknaar Nahi” – I shall never forsake you!, is a promise Bapu has made and he always keeps his

भारत की ओर से रक्षाविषयक तैय्यारी पर जोर

स्वदेशी सेंसर्स देश की लष्करी तकनीक में बदलाव करेंगे – ‘डीआरडीओ’ प्रमुख नई दिल्ली: पाकिस्तान के सैनिक और आतंकियों की सीमा क्षेत्र में बढ रही घुसपैठ एवं लद्दाख से अरूणाचल के सीमा तक चीन की लष्करी गतिविधियों में बढोतरी होने की पृष्ठभुमि पर भारत ने अपने रक्षा बल को आधुनिक और अद्ययावत करने के लिए विशेष महत्व दिया है| इस के लिए भारतीय रक्षा बल सीमा पर ‘लेझर फेंसिंग’ का

Aniruddha Gurukshetram

हरि ॐ, शुक्रवार दिनांक १ फेब्रुवारी २०१९ ते शुक्रवार दिनांक १५ फेब्रुवारी २०१९  ह्या कालावधीत वार्षिक मेन्टेनन्सच्या कामानिमित्ताने श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम्‌ दर्शन, जलाभिषेक, पंचोपचार पूजन, श्रीरुद्र सेवा, श्रीदत्तकैवल्य याग सेवा, श्रीरामरसायन पठण इ. सर्व विधी व उपचारांसाठी बंद राहील, ह्याची सर्व श्रद्धावानांनी कृपया नोंद घ्यावी. ———————————————————————————- हरि ॐ , शुक्रवार दि. १ फरवरी २०१९ से शुक्रवार दि. १५ फरवरी २०१९ इस अवधी में, वार्षिक मेन्टेनन्स कार्य के कारण श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम्‌ दर्शन,

रशिया से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियां

सबसे अधिक सोने का भंडार रखने वाले देशों की सूची में रशिया की पांचवे स्थान पर छलांग – २,१०० टन सोने के साथ चीन को भी पीछे छोडा मॉस्को: अमरिका और युरोपीय देशों के प्रतिबंधों का सामना कर रहे रशिया ने पिछले वर्ष में ऐतिहासिक ‘सुनहरा’ मुकाम दर्ज किया है| वर्ष २०१८ में रशिया के सोने का भंडार २,१०० टन तक जा पहुंचा है| विदेशी मुद्रा भंडार में इस सोने

When my fate seemed sealed, I saw a ray of hope...

– Anita Mistry, Devgad Since the year 2003, I started following Bapu. After that, I came to realise and experienced Bapu’s grace every now and then. I have had two experiences of how he protects and blesses us. Albeit, I am alive today to be able to narrate the third experience only due to Bapu. I bow at the lotus feet of Bapu and pray to him that the rest

sedentary lifestyle

हरि ॐ, श्रीराम, अंबज्ञ, नाथसंविध्‌,  नाथसंविध्‌,  नाथसंविध्‌.  कष्ट के बिना फल नहीं, ओ.के? और बाकी सारी चीज़ों के लिए तो हमलोग कष्ट करते रहते हैं। We go on putting our all efforts in everything….whatever we desire for. जो हमे चाहिए, उसके लिए हम लोग बहुत प्रयास करते रहते हैं…. मन से, तन से, धन से; लेकिन ये सब चीज़ें जो देता है, उसके लिए हम कितने श्रम करते हैं? ये

sedentary lifestyle

॥ हरि ॐ ॥ श्रीराम ॥ अंबज्ञ॥ नाथसंविध्‌ नाथसंविध्‌ नाथसंविध्‌      जीवन में किसी को यह चाहिए, किसी को वह चाहिए, एक ही इन्सान के जीवन में, सुबह में यह चाहिए, तो दोपहर में दूसरा कुछ चाहिए, शाम को तीसरी चीज़ चाहिए, रात को चौथी चाहिए, सपने में पाँचवी चीज़। Right? चलते ही रहता है। उसमें कोई बुराई नहीं हैं, it happens. होता है। लेकिन अभी समझो, हम लोग कोई

Bhaktibhav Chaitanya

  From the Editor’s Desk January 2019   Hari Om Friend, The months of November and December were long-awaited by all the Shraddhavans as they brought with them the festivals of ‘Shree Aniruddha Pournima’ and ‘Shree Sacchidananda Utsav’, the peaks of joy for Shraddhavans. ‘Shree Sacchidananda Utsav’ is the epitome of “Bhakti-Bhav” for Shraddhavans, which brings unparalleled and pure joy – Chaitanya, as we fondly welcome Sadguru Shree Aniruddha’s Padukas

  स्वास्थ्य (निवारक, प्रोत्साहक, रोगनिवारक, पुनर्वास) ग्रामिण/नगरीय/सामुदायिक/आदिवासी विकास पर केन्द्रित भारत आज दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। परंतु तेज़ी से प्रगति करती अर्थव्यवस्था के बावजूद, कुछ समस्याएं देश के कई हिस्सों में अब तक पनप रही हैं और उन क्षेत्रों पर मंडरा रही हैं। गरीबी, एक ऐसी ही समस्या है, जो विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में समाज को असक्षम बना देती है और प्रगति में बड़ी

(के एम एच सी) ग्रामीण/ नागरी / समाज / आदिवासी ह्यांच्या आरोग्य आणि स्वच्छतेवर लक्ष केंद्रीत करून विकास (प्रतिबंधक, प्रोत्साहक, उपचारात्मक आणि पुनर्वसन) भारत सध्या जगातील अग्रेसर /(अग्रगणी ) अर्थव्यवस्थांपैकी एक आहे.  तथापि अर्थव्यवस्थेची भरभराट होत असली तरी, देशातील भागांमध्ये काही समस्या वारंवार प्रकट होऊन जोमाने वाढत राहतात. सार्वत्रिकरीत्या ग्रामीण भागांमध्ये, विशेषत: दारिद्र्य हे एक असे सामाजिक दैन्य आहे, जे समाजाला अपंग बनविते आणि त्याच्या विकासात अडथळा आणते. बहुतांश वेळा,

KOLHAPUR MEDICAL & HEALTHCARE CAMP {KMHC}

RURAL / URBAN / COMMUNITY / TRIBAL Development with focus on HEALTH (Preventive, Promotive, Curative and rehabilitative) and HYGIENE India is currently one of the leading economies of the world. However, despite the boom of its economy, certain problems continue to thrive and haunt parts of the country. Poverty, especially prevalent in rural areas, is one such social evil which handicaps society and hampers its progress. Most of the times,

अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प और मेक्सिको वॉल का मसला

 ‘मेक्सिको वॉल’ के मुद्दे से बिल्कुल वापसी नही करेंगे – राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प का इशारा वॉशिंगटन: ‘मेक्सिको सीमा की सुरक्षा के लिए ड्रोन्स या सेन्सर्स काफी नही है| सीमा से घुसपैठ कर रहे अवैध शरणार्थियों को रोकना है तो उसके लिए पोलाद या कांक्रिट की मजबूत दिवार ही जरूरी है और वही शरणार्थियों को रोक सकेगी| अमरिका सुरक्षित रखने के लिए मेक्सिको सीमा पर दिवार जरूरी है और इस मुद्दे

सद्गुरु श्री अनिरुद्ध बापु के अग्रलेख ऑनलाईन पढने का स्वर्णिम अवसर

हरि ॐ हम श्रद्धावानों को त्रि-नाथों से जोडने वाले ‘समर्थ-सेतु’ स्वयंभगवान श्री त्रिविक्रम के भक्तिभाव चैतन्य में रहना, यही हर एक श्रद्धावान के लिए राजमार्ग है, यह मार्गदर्शन हमें परमपूज्य सद्गुरु श्री अनिरुद्ध बापु दैनिक प्रत्यक्ष के अग्रलेखों से कर रहे हैं। हम सभी जानते हैं कि सद्गुरु श्रीअनिरुद्धजी विभिन्न मार्गों से अपने श्रद्धावान मित्रों के साथ संवाद करते हैं। हर गुरुवार को श्रीहरिगुरुग्राम में होने वाले पितृवचन (प्रवचन) के