गूँज उठी पिपासा – भाग १ प्रकाशन

हरि ॐ,

श्रद्धावानों को भक्तिभाव चैतन्य में आकंठ डूबानेवाले “पिपासा ३” एवं “पिपासा ४” ये अभंगसंग्रह इस साल प्रकाशित हुए। सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्धजी पर के प्रेमरस से ओतप्रोत भरी ये अभंगरचनाएँ, ३१ दिसम्बर २०१९ के अनिरुद्ध भक्तिभाव चैतन्य इस महासत्संग की आतुरता से प्रतीक्षा करनेवाले श्रद्धावानों के मन की पिपासा को अधिक से अधिक बढ़ाती ही जा रहीं हैं।

ये सभी अभंगरचनाएँ यानी इस महासत्संग की उत्कंठा को बढ़ाने वाला मानो एक प्रेमप्रवास ही है। ऐसे इस प्रेमप्रवास में, श्रद्धावानों की पिपासा को अधिक ही वृद्धिंगत करनेवाली एक और अनमोल धरोहर प्राप्त करने का स्वर्णिम अवसर हमारे सामने आया है।

सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्धजी के ही कृपाशिर्वाद से, संस्था के महाधर्मवर्मन डॉ. योगीन्द्रसिंह जोशी और डॉ. विशाखावीरा जोशी इनकी कलम से साकार हुईं, सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्धजी पर रची हुईं नयीं हिन्दी भक्तिरचनाओं के संग्रह का पहला भाग “गूँज उठी पिपासा – भाग १”, कल आश्विन (अशुभनाशिनी) नवरात्रि की घटस्थापना के पावन पर्व पर, यानी रविवार, दि. २९ सितम्बर २०१९ को अनिरुद्ध भजन म्युझिक ॲप के माध्यम से श्रद्धावानों के लिए उपलब्ध हो रहा है।

इस अल्बम के मूल्य के बारे में जल्द ही सूचित किया जायेगा।

॥ हरि ॐ ॥ श्रीराम ॥ अंबज्ञ ॥॥ नाथसंविध् ॥

Related Post

Leave a Reply